Encryption Aur Decryption Kya Hai,Nuksan Aur Fayda

Encryption सूचना के स्थान्तारण की एक ऐसी प्रक्रिया है जिससे सूचना को ओर लोगो को पढने पर अस्पष्ट मालूम पड़े परन्तु जो recepient तक वह सूचना पहुचाई जाए उसे वह भालीभाती समझ में जाए ओर Decryption वह प्रक्रिया है,

जिससे Encrypted की हुई सूचना में दुबारा परिवर्तन किया जाता है जिससे वह फिर से स्पष्ट हो सके| Cryptography Algorithm (cipher) वह function है जिसके माध्यम से हम Encryption तथा Decryption का प्रदर्शन करते है|

What is encryption and decryption, advantages and disadvantages In Hindi

Cryptography को समझे : Cryptography का इस्तेमाल email, credit cards, तथा अन्य महत्वपूर्ण जानकारी को सुरक्षित किया जाता है| Cryptography में दो process होते है –

  1. Encryption
  2. Decryption

Encryption में plain text को cypher text में transform किया जाता है, जबकि Decryption में इसी का उल्टा किया जाता है यानि कि cypher text को बदल कर के plain text में किया जाता है|

 

Encryption Ka Use(इस्तेमाल) Kyo Kiya Jata ?

आज के समय में हम सभी data की महत्ता को अच्छी तरीके से जानते है | हम समझते है कि data सबसे अधिक कीमती है और इसकी सुरक्षा के साथ हम किसी भी तरह का समझौता करना नहीं चाहते (data कुछ भी हो सकता है किसी का bank account की जानकारी, किसी का mobile number इत्यादि) |

Encryption का इस्तेमाल data को third party से secure करने के लिए किया जाता है| Hacking होने की संभावना को यह कम करता है| अगर हम अपने किसी गुप्त जानकारी को intended recipient (जिस व्यक्ति तक data पहुचना है) तक पहुचना चाहते है ओर यह भी चाहते है की वह जानकारी उस व्यक्ति के अलावा कोई दूसरा पढ़ सके और अगर पढ़ भी ले तब भी उस व्यक्ति को समझ ना आए कि आखिरकार लिखा क्या है ओर वह उस जानकारी को समझने में असमर्थ हो जाए| उसको बस ढेर सरे unreadable text नज़र आए|

 

Encryption Kitne Type(प्रकार) Ke Hote Hai ?

Encryption दो प्रकार का होता है:

  1. Asymmetric Key Encryption जिसे हम Public Key Cryptography भी कहते है| (Key एक तरह से पासवर्ड होता है) | Asymmetric Key Encryption में key का एक pair का use किया जाता है जिसमे से एक public key होती है ओर दूसरी private key जो कि user की identity को आसानी से autheticate करती है|
  2. Symmetric Key Encryption और इसको Private key Cryptography भी कहते है| Symmetric Key Encryption में दोनों encryption और decryption दोनों ही एक ही key के इस्तेमाल से हो जाता है|

 

कैसे होता है यह process?

सबसे पहले जो file आपको भेजनी है वह encryption form में transfer होती है| जो की unreadable form में होती है| अब इस file को key के द्वारा lock कर encrypt कर देता है तथा recipient को भेज दिया जाता है| जब recipient को यह file प्राप्त होती है वह key का इस्तेमाल करता है तथा उस unreadable text को वह पुनः key के मदद से decrypt कर readable बना लेता है |

Kya Hai Encryption/ decryption Ke fayde ?

  • Encryption से data की security बढ़ जाती है | Network पर बैठे हुए hackers के द्वारा ये hack होने से आसानी से बच जाता है|
  • Authentication उसी को provide करता है जिसे sender चाहता है कि वही वह data को access कर सके|

 

Kya Hai Encryption/ decryption Ke Nuksan ?

  • इसका यह drawback है कि अगर अप password भूल गए तो आप इसमें पड़ी हुई जानकारी को प्राप्त नहीं कर सकते है|

हलाकि Cryptography तो समय की मांग है क्युकि हम computer की किसी भी परेशानी से लड़ सकते है पर अगर हमारा data lost या चोरी होता है तो वह हमारे लिए एक बड़ा नुक्सान होगा तो इसके लिए backup ओर cryptography एक महत्वपूर्ण योगदान है data को secure करने में| आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा आप हमे कमेंट के द्वारा बताए और अपने feedback ही जरुर दे|

Previous articleSEO Ke Bare Me 10+ Jhuti Bate
Next articleOnline Content Writing Job Requirement By- AnyTechinfo.Com
मै Mitali एक MCA Student होने के साथ ही साथ एक skilled content writer और SEO Expert भी हु. मुझे internet surfकरना और अपने ही जैसे दुसरे उत्साह से भरे लोगो के साथ नए-नए Ideas Share करना बेहद पसंद है. मै Uttar Pradesh के khoobsurat शहर Lucknow से हु, अगर आपको यह Post अच्छा लगा हो तो कृपया इसे Facebook And Other Social Media पर Share जरूर करें| आपका यह प्रयास हमें और अच्छे Article लिखने के लिए प्रेरित करेगा |

4 COMMENTS

  1. Great Article Mitali ji.

    Ravi ji mera aapse ek sawal hai. wo ye hai ki aapke blog par kai sare writer blog post write karte hai to aap unko payment kaise karte ho? i mean ki ye kaise decide karte ho ki kis writer ko kitna pay karna hai. kyu ki ye jaruri nahi ki sabhi ke post rank kare aur uspe visitor aayenge.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here