Pf Account Kya Hai,Iske fayde

3

एम्पलॉइ प्राइवेट फंड यानी ईपीएफ से सम्बन्धित आज हम आपको Anytechinfo.com पर बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी बताने जा रहे हैैं। जैसा कि ईपीएफ अकाउंट को लेकर इसके बहुत से यूजर्स को कन्फ्यूजन बनी रहती।
इसीलिए आज हम इस आर्टिकल में आपको ईपीएफ से संबंधित जानकारियां शेयर करेंगे। अभी हाल ही में EPFO ( Employees’ Provident Fund Organisation) ने  अपने सब्सक्राइबर्स के लिए एक ऑनलाइन सुविधा पेश की है, जिसमें आप अपने आधार कार्ड यानी आधार नंबर  को पीएफ अकाउंट से लिंक कर सकते हैं।

लेकिन इससे पहले मैं आपको बताना चाहूंगा कि “Employee Provident Fund क्या हैं? और इसके फायदे कौन से हैं?” EPF (Employee Provident Fund) क्या है Yah Kya Hai Aur Isse Aadhar Se Link kaise kare isse jude sabhi jankari ?

EPF (Employee Provident Fund) Kya Hai, What Is EPF Account In Hindi

EPF (Employee Provident Fund) एक तरह का निवेश  है | जो किसी सरकारी अथवा प्राइवेट कंपनी में काम करने वालो के लिये होता है, जो उनके भविष्य में काम आता है|यह Fund कर्मचारी भविष्य निधि संगठन  (Employee Provident Fund Organization) द्वारा maintain किया जाता है | कानून के नियमानुसार वह कंपनी जिसके पास 20 से ज्यादा एम्पलॉइ काम करने वाले हैं |

उसका  Registration EPFO (Employee Provident Fund Organization) में होना जरुरी है |इसके तहत Salery पाने वाले व्यक्ति की  salery का कुछ भाग हर महीने में यहाँ जमा होता है (EPFO के निर्देशानुसार जमा राशि की दर १२ प्रतिशत होती हैं) |  और यह पैसा व्यक्ति के पास काम न होने पर, और Retirement के time me काम आता है | EPF पर सरकार द्वारा वार्षिक ब्याज भी दिया जाता है| ब्याज की दर की दर सरकार और सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ ट्रस्टी द्वारा निर्धारित की जाती है | वर्तमान में यह दर 8.75% है

 

EPF (Employee Provident Funds) Ke fayde – Benefit Of EPF

1.  EPFO अपने इस फैसले को वापस ले लिया था कि निष्क्रिय पड़े खातों पर ब्याज नहीं मिलेगा. इसका मतलब है कि अब आपको अपने पीएफ अकाउंट पर तब भी ब्याज मिलेगा जब वह तीन साल से अधिक समय तक निष्क्रिय पड़ा रहा हो. तीन वर्षों के दौरान अगर आपके पीएफ खाते से न पैसा निकाला गया और न ही इसमें डाला गया तो भी मौजूदा रकम पर ब्याज मिलता रहेगा. मतलब कि जो अमाउंट आपके खाते में रहेगा अगर आप तीन साल अपने अकाउट को निष्क्रिय रखेंगे तब भी आपको उस पर ब्याज मिलता रहेगा लेकिन बेहतर है कि आप अपने अकाउंट को निष्क्रिय ना करें। और बराबर लेन देन करते रहे जिससे आपको भविष्य में किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

2. अगर कोई एम्‍प्लॉई अपना पीएफ अकाउंट खुलवाता है तब इसके साथ आपको बाई डिफॉल्ट बीमा भी मिलता है। ईडीएलआई (EDLI) की योजनाओं के मुताबिक पीएफ खात पर 6 लाख रुपये तक इंश्योरेंस यानी बीमा भी मिलता है।

3. क्या आप जानते हैं कि 10 साल तक लगातार पीएफ अकाउंट मेंटेन करने से लाइफटाइम की एम्‍प्लॉई पेंशन स्कीम का फायदा मिलता है।

 

4. अगर आपका पीएफ अकाउंट आपके आधार से लिंक है(अगर लिंक नहीं हैं तो कोई बात नहीं हम इस पोस्ट में आपको बताएंगे कि आप अपने पीएफ अकाउंट आधार से लिंक कैसे करें) तो अगर आप अपनी पुरानी नौकरी छोड़कर कोई दूसरी नौकरी करते है तो इसके बाद भी आपको पीएफ का पैसा ट्रांसफर करने में कोई भी परेशानी नहीं होगी। अमाउंट ट्रांसफर करने के लिए दो प्रोसेस हैं ऑनलाइन और ऑफलाइन इसमें से आप अपनी सुविधा के मुताबिक कोई भी प्रोसेस चुन सकते हैं।

5. अगर आप अपने पीएफ अकाउंट से पैसे निकालना चाहते है  तो आप  बीमारी में, उच्च शिक्षा के लिए, मकान खरीदने या बनाने के लिए, मकान की रीपेमेंट के लिए, शादी आदि के लिए एक तय रकम निकाल सकते . इसके लिए आपको ईपीएफओ का एक पार्टिकुलर टाइम के लिए मेंबर होना चाहिए।

ये तो हो गए पीएफ अकाउंट के फायदे। चलिए मैं आपको ” पीएफ अकाउंट से आधार जोड़ने के फायदे” बताता हूं।
वैसे तो पीएफ से आधार जोड़ने के कई फायदे हैं जैसे कि इससे पीएफ अकाउंट जल्दी से ट्रांसफर हो सकता है एवं नौकरी वर्ग के  लोग भविष्य में पीएफ अकाउंट जल्दी से  जल्दी पैसा ट्रांसफर कर पाएंगे। और आधार से लिंक होने पर पीएफ से पैसे भी शीघ्रता से  निकालना संभव हो पायेगा।

 

पीएफ अकाउंट को आधार से लिंक कैसे करें,PF Account Ko Aadhar Se Link Kaise Kare

Step  :: 1

  1. पीएफ अकाउंट से आधार नंबर को लिंक करने के लिए सबसे पहले EPFO की वेबसाइट www.epfindia.gov.in पर जाएं।
  2. इसके बाद इस वेबसाइट पर Online Services >> e-KYC Portal>> LINK UAN AADHAAR पर जाएं।

Step  :: 2

  1. इसके बाद LINK UAN AADHAAR पर अपने UAN नंबर और UAN अकाउंट से रजिस्टर्ड नंबर एंटर करें। , direct uss page par jane ke liye yaha click kare
  2. इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल फोन नंबर पर एक OTP यानी वन टाइम पासवर्ड आएगा। उसके बाद दिए गए बॉक्स में अपना वन टाइम पासवर्ड  (OTP) डालें और उसके नीचे दिए गए आधार नंबर के सामने वाले बॉक्स में अपना 12 अंकों का आधार नंबर डालें। 
  3. इसके बाद इन सभी सूचनाओं को सबमिट करें। इसके बाद Proceed to OTP वेरिफिकेशन आॅप्शन आएगा जिस पर क्लिक करें।
  4. इसके बाद आपको एक बार फिर से आपको आधार डिटेल्स की वेरिफिकेशन के लिए अपने आधार से लिंक मोबाइल नंबर या ई—मेल आईडी पर OTP जनरेट करना पड़ेगा।
  5. आखिरी ओटीपी वैरिफिकेशन के बाद आपका PF Account आधार से लिंक हो जाएगा।

 

तो दोस्तो आज के लिए बस इतना ही अगर आपको हमारी ये पोस्ट Link Your PF Account With Aadhar पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने समूह के अन्य कर्मचारियों के साथ अवश्य शेयर करें जिस से वो भी अपने आधार को पीएफ से लिंक कर सकें। अगर आपको आधार लिंक करने में किसी प्रकार की परेशानी आ रही हैं तो कॉमेंट करके जरूर बताएं। अपने मूल्यवान विचार कॉमेंट सेक्शन में अवश्य व्यक्त करें।  धन्यवाद्!!

Previous articleAndroid Phone Ke 4 Magic Trick
Next articleKhoye Hue Driving Licence Recover Kaise Kare
मै Ravi Kumar, मै एक Teacher(math,Computer) हूँ,और साथ मे Internet Aur Technology पर Post लिखना मुझे पसंद है,मै फ्री-टाइम में AnyTechinfo.com पर Post डालता हूँ. आप सभी से request है इस साईट को सफल बनाने की मेरी कोशिश में अपना सहयोग दें. अगर आपको यह Post अच्छा लगा हो तो कृपया इसे Facebook And Other Social Media पर Share जरूर करें| आपका यह प्रयास हमें और अच्छे Article लिखने के लिए प्रेरित करेगा| AnyTechinfo.com को The best Hindi Blog बनाने के लिए बस आप लोग अपना साथ बनाए रखे और हमें सपोर्ट करते रहें.

3 COMMENTS

  1. Hi Mr.ravi…nice post u have written.. Keep it up. Mai Aapke liye post likhne ka kaam Karna chahta hu… Abhi jobless hu.. Kaam Karna chahta hu.. Jarurat hai to pls bataiye. Aap bas Mujhe bas post ka title batate rahiye… Mai Aapke liye achhi se achhi post taiyaar karke dunga… Waiting for ur reply.. Thanks…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.